बारिश के मौसम में जोड़ों के दर्द से करें अपना बचाव

बारिश में जोड़ों का ख्याल रखने के सरल उपायें

लेखिका- डॉ. स्नेहल सिंह 

क्या वर्षा ऋतू में अक्सर आप जोड़ों के दर्द का शिकार बन जाते हैं? क्या बारिश का मौसम आपके लिए जोड़ों के दर्द की परेशानी अपने साथ लेकर आती हैं? यह आमतौर पर देखा गया हैं कि बारिश के मौसम में स्वास्थ्य से जुडी परेशानियां बढ़ जाती हैं। जोड़ो के दर्द की परेशानी भी उनमें से ही एक हैं।

पुरानी चोट, अर्थराइटिस, जोड़ों से जुडी परेशानियां बारिश के मौसम में कई लोगों के जीवन में उत्पात मचा देती हैं। जोड़ों के दर्द और ठंडे मौसम का पुराना रिश्ता हैं। इस बारिश में जोड़ों के दर्द से परेशान होने के जगह बचने के लिए पूरी तैयारी करें। ऐसे ही कुछ उम्दा उपायें नीचे दिए गए हैं। पढ़ें और अपनायें।

बारिश में जोड़ों के दर्द से बचने के उपायें 

गर्म रहें 

बारिश अपने साथ सर्द हवाएं, गीलापन और मौसम में ठंडक लेकर आती हैं। इस मौसम में दर्द की परेशानी और जोड़ों में संवेदनशीलता बढ़ जाती हैं। कुछ लोग इस मौसम में जोड़ों के दर्द से बहुत परेशान हो जाते हैं और उनका बाहर निकलना भी दूभर हो जाता हैं। गर्म पानी से नहाने से खून के संचार में मदद मिलता हैं जो दर्द में भी राहत पॅंहुचाता हैं। दर्द वाली जगह पर गर्म सेंक करने से काफी आराम मिलता हैं। गर्म पानी में पैरों को डूबाकर सेकने से और गर्म तेल से मालिश करने से भी काफी लाभ मिलता हैं। पूरे शरीर को ढकने वाले कपडे पहने और खुद को  गर्म रखने की कोशिश करें।

सही भोजन खायें  

जी हाँ! भोजन आपका स्वास्थ्य बना भी सकता हैं और बिगाड़ भी सकता हैं। इसलिए अपने खाने पर ध्यान दे।बारिश के मौसम में खाने पर ध्यान देना और आवश्यक हो जाता हैं। इस मौसम में तले हुए और बाहर का खाना बिलकुल भी न खायें। ग्रीन टी, हर्बल टी, गरमा गरम सूप, अंडे, बादाम, अखरोट, फल, काली मिर्च आदि सेहत के लिए बहुत लाभकारी हैं। बारिश के मौसम में पानी पर भी ध्यान दे। ज़रूरी हैं पानी का उचित सेवन करना। दिन भर पानी की बोतल अपने साथ लेकर घूमे और पानी पीते रहें। साफ़ और ताज़ा बना हुआ खाना ही खाएं। सही भोजन जोड़ों की परेशानी को बढ़ने नहीं देगा।

सेहत का सही जांच करवायें   

अपने सेहत को नज़रअंदाज़ न करें। जोड़ों में थोड़ी सी परेशानी होने पर डॉक्टर से मिलें। समय पर दवाईयां ले और रोज़ व्यायाम करें। वजन कम करने की कोशिश करें। समय पर ज़रूरी जाँच करवाएं और डॉक्टर से मिलते रहें। जोड़ों का दर्द अक्सर बढ़कर गंभीर रूप ले लेता हैं। इसलिए सेहत की जांच ज़रूर करवाएं। जांच अर्थराइटिस जैसी परेशानियों को समय पर पहचाने और सही इलाज में मदद करता हैं। सूजन भी कई वजहों से होती हैं। जांच परेशानी को पहचानने और उससे निदान पाने में मदद करती हैं।

रोज़ व्यायाम करें 

व्यायाम बारिश के मौसम में स्वयं को गर्म रखने और जोड़ों को लचीला बनाने का उपयुक्त उपाय हैं। रोज़ के शारीरिक गतिविधियां आपका सेहत कैसा होगा यह निर्धारित करती हैं। ऐसे व्यायाम के तरीके पसंद करें जो आपके मांसपेशियों को मजबूत करने में मदद करे और रक्त परिसंचरण में सुधार करे। व्यायमा सूजन और जोड़ों में दर्द को भी रोकता है। पसंद के व्यायाम करें और उसे अपने प्रतिदिन का भाग बनायें।

 

रखें अपने जोड़ों का ख्याल
 

This post has already been read 253 times!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *