कैसे रहें पेट की परेशानियों से दूर?

स्वस्थ्य पेट के उपाय

लेखिका- डॉ.धृती वत्स

क्या आपके लिये पेट कि परेशानियां आम बात हैं? गैस, अपच, पेट में दर्द आदि जैसे हमारे रोज़ाना के साथी हो। यही वजह हैं कि हम अक्सर पेट से जुडी परेशानियों पर उतना ध्यान नहीं देते हैं। पर लम्बे समय में यह पेट कि परेशानियां बहुत नुकसानदायक रूप ले सकती हैं। भावनात्मक समस्याओं, उच्च लिपिड स्तर, मधुमेह और हार्मोन की समस्याएं  सीधे पाचन से प्रभावित होती हैं।

पेट हमारे शरीर का बहुत महत्त्वपूर्ण भाग हैं। हमारी बहुत सारी आदतों का पेट की सेहत पर सीधा असर होता हैं। हम सभी स्वाद को स्वास्थ्य से ज़्यादा ध्यान देते हैं पर हमारी ऐसी ही कई लापरवाही हमारे नुकसान का कारण बन जाती हैं। तो इसका मतलब यह भी हैं कि अपनी कुछ आदतों को बदलकर आप अपने सेहत का और पेट का ख्याल रख सकते हैं। नीचे ऐसे ही कुछ उम्दा उपाय दिए गए हैं जो आपको स्वास्थय पेट और रोज़ रोज़ कि पेट कि बिमारियों परेशानी से आज़ादी देंगी।

पेट का रखें ख्याल   

अपने स्वास्थय का ख्याल रखने कि जिम्मेदारी हमारे स्वयं कि होती हैं। जीवन के बाकि सारी जिम्मेदारियां निभाते हुयें हम अक्सर खुद का ख्याल रखना भूल जातें हैं और इसका असर हमारे स्वस्थ्य पर होता हैं। पेट कि परेशानी भी भले ही मामूली लगें  लम्बे समय में भयानक रूप ले सकती है और कई बिमारियों को न्योता देती हैं। नीचे ऐसे ही कुछ तरीके दियें गायें हैं जिनके मदद से पेट का सही ख्याल रखा जा सकता हैं। आइयें इनके बारें जाने और स्वास्थय से भरे रास्तें पर चलना शुरू करें:

  • स्वस्थ्य जीवन का सबसे बड़ा राज़ हैं पानी। रोज़ाना पर्याप्त मात्रा में पानी पीने से पेट साफ़ रहता और बीमारियां कोसों दूर रहती हैं।  कम पानी पीने से हमारा पाचन कार्य पर असर पड़ता हैं और वो धीरे काम करने लगता हैं।  अगर स्वस्थ्य रहना हैं तो पानी पीएं, बहार जातें समय अपने साथ पानी कि बोतल लेकर जाएं और दिन भर पानी पीते रहें
  • फाइबर से भरपूर भोजन खाएं। फाइबर पेट के लिए बहुत अच्छ होता हैं और पाचन क्रिया में बहुत मददगार होता हैं। तो आज से ही फाइबर से भरे खाने को अपने रोज़ के भोजन का भाग बनाएं और पेट को खुश करें
  • सब्ज़ियां, फल और होल ग्रेन्स को अपने भोजन का भाग बनाएं
  • बाहर के खाने से बचें। कोशिश करें कि घर पर खाना बनाकर खाएं और बाहर बहुत कम ही खायें
  • दही और आदि प्रोबियोटिक पदार्थों को खाने में शामिल करें।  प्रोबियोटिक सिर्फ पेट को स्वस्थ्य रखने में ही नहीं बल्कि इम्युनिटी भी बढ़ाती हैं

  • फैटी खाने पाचन क्रिया को कमज़ोर और धीरे कर देते हैं। इसलिए फैटी खाने को कम से कम खायें  समय पर खाना खाएं। देर से या बिना समय के भोजन करने से सेहत पर बहुत बुरा असर पड़ता हैं और पूरा पाचन क्रिया उलट पुलट हो जाता हैं। जो लोग समय पर खाना नहीं कहतें हैं वो अकसर पेट कि परेशानी से जूझते हैं
  •  धूम्रपान भी पेट के लिये हानिकारक होता हैं।
  •  अत्यधिक कैफीन भी पेट को नुकसान पहुंचती हैं
  • शराब कम से कम पीएं और रोज़ाना पीने कि आदत को अलविदा करके सेहत को गले लगायें
  • अपने तनाव के स्तर को प्रबंधित करें, क्योंकि वे ज्यादातर परेशां होने से शरीर में एसिड बनता हैं और पेट कि परेशानी को जन्म देता हैं
  • रोज़ाना व्यायाम के लिये समय निकालें। दिन में कम से कम ३० मिनट तक व्यायाम करना ज़रूरी हैं
  • गरम पानी, ग्रीन टी और  सूप पाचन में मदद करती हैं और पेट को आराम पहुंचती है
  • हींग, जीरा, सौंफ, अदरक पेट के लिये अच्छा होता हैं। इन्हें अपने भोजन में ज़रूर शामिल करें

 

हमेशा याद रखें कि स्वास्थ्य कि शुरुआत आपसे ही होती हैं। सही आदतों का मतलब हैं स्वस्थ्य आप, तो देर न करें और स्वास्थय को अपनाएं और बुरी आदतों को अलविदा कह दें।

स्वस्थ्य पेट स्वस्थ्य आप
 

This post has already been read 54 times!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *