कैफीन के सेवन को कम न करने से हो सकती है आपको कई परेशानियाँ

कैफीन का अधिक सेवन - Healthians
लेखिका – प्रेक्षा बुट्टन 

चाय, कॉफ़ी, कोल्ड ड्रिंक, चॉकलेट – इन सभी में एक चीज़ कॉमन है। वह है कैफीन। यह कैफीन आपकी सेहत को बना भी सकता है और बिगड़ भी सकता है। यह इस बात पर निर्भर करता है कि आपके एक दिन का कैफीन का सेवन कितन है। 

फ़ूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन डीपार्टमेन्ट का कहना है की एक दिन में 400 मिलीग्राम कैफीन के सेवन से आपको कोई खतरा नहीं है। 400 मिलीग्राम कैफीन दो से तीन कप कॉफ़ी के बराबर है। इतना कैफीन आपको सतर्क बना सकता है, आपकी दिमागी क्षमता को बढ़ा सकता है, वज़न कम करने में मदद कर सकता है और आपको कैंसर और स्ट्रोक जैसी बिमारियों से बचा सकता है। लेकिन अगर आप रोज़ 400 मिलीग्राम के अधिक कैफीन ले रहे है तो यह आपको हानि पहुँचा सकता है। इसलिए इन लक्षणों पर ध्यान दें और आपने कैफीन के सेवन को कम करें 

 

आप चिंतित रहते है 

कैफीन आपको सतर्क बनाता है। लेकिन ज़रूरत से ज़्यादा कैफीन का सेवन आपको चिंतित बना सकता है। कैफीन शरीर में एड्रेनालाईन नामक हॉर्मोन को बढ़ाता है। यह हॉर्मोन आपको आपके एनर्जी लेवल को बढ़ाता है। आप कैफीन रोज़ लें या कभी कभी, यह एक ही तरह से काम करेगा और इस हॉर्मोन को बढ़ाएगा। एड्रेनालाईन की अधिक मात्रा की वजह से आप चिंतित और तनावग्रस्त महसूस कर सकते है। चिंतित और तनावग्रस्त रहने की वजह से आप अपने कार्य भी पूरी क्षमता के साथ नहीं कर पाएंगें। 

 

आप सो नहीं पा रहे है 

आप सुबह उठकर चाय या कॉफ़ी इसलिए पीते है क्योंकि यह नींद को दूर करने में मदद करती है। कैफीन ब्लड स्ट्रीम में घुलने में समय नहीं लगाता है और 4-6 घंटे तक अपना काम करता है। इसलिए अगर आप अपने सोने के समय के पास कैफीन का सेवन करेंगें तो यह आपको नींद पर असर डालेगा। इसलिए कोशिश करें की सोने के समय के पास आप कैफीन का सेवन न करें। 

 

आपका ब्लड प्रेशर हाई रहता है 

कैफीन नर्वस सिस्टम को उत्तेजित करता है जिसकी वजह से ब्लड प्रेशर बढ़ जाता है। अगर लम्बे समय तक ब्लड प्रेशर इसी तरह बढ़ा रहता है तो आर्टरीज़ को हानि हो सकती है और दिल और दिमाग को खून की कमी हो सकती है। इस वजह से हार्ट अटैक और स्ट्रोक जैसी बिमारियों का खतरा भी बढ़ सकता है। हाई ब्लड प्रेशर और दिल की बिमारियों से जूझ रहे लोगो को खासतौर पर अपने कैफीन के सेवन का ध्यान रखने की ज़रूरत है।

 

कैफीन की लत - Healthians

आपको पाचन संबंधी समस्याएँ रहती है 

कैफीन पेट में एक हॉर्मोन को ट्रिगर करता है जो कोलन की गतिविधि को बढ़ाता है। इसलिए कैफीने के अधिक सेवन के कारण दस्त होना आम बात है। कैफीन के अधिक सेवन की वजह से गैस्ट्रोओसोफेगल रिफ्लक्स डिज़ीज़ का खतरा भी हो सकता है। इसलिए कैफीन के सेवन को नियंत्रित रखना ज़रूरी है। 

 

कैफीन आपकी ज़रूरत बन गयी है 

आपको कैफीन की लत लग सकती है। यह आपको सतर्क बनाता है जिसकी वजह से आपके काम करने की क्षमता बढ़ती है। इसलिए हो सकता है की आपका बार बार कैफीन लेने का मन करें और आप इस पर निर्भर होने लगे। शरीर जल्द ही आदतें अपना लेता है इसलिए आपका कैफीन का सेवन भी बढ़ता रहेगा। और इस तरह आप कैफीन के आदि हो जाएंगें। 

 

आपको कैफीन विथड्रावल के लक्षण हो सकते है 

जैसे की हमने बात की आपको कैफीन की लत लग सकती है। इसलिए अगर आप अचानक कैफीन के सेवन को बंद करेंगें तो आपको कैफीन विथड्रावल के लक्षण हो सकते है। इसमें आप सर दर्द, थका हुआ, चिंतित और चिड़चिड़ापन महसूस कर सकते है और हो सकता है की आपका काम में मन न लगे। यह लक्षण कैफीन के सेवन को बंद करने के 12 से 24 घंटों बाद शुरू हो सकते है।

 

कृपया ध्यान दें की सिर्फ चाय और कॉफ़ी ही कैफीन के एकमात्र स्रोत नहीं है। एनर्जी ड्रिंक, सॉफ्ट ड्रिंक, चॉकलेट मिल्क, डार्क चॉकलेट और डिकैफ़िनेटेड कॉफ़ी समेत सभी तरह की चाय और कॉफ़ी में कैफीन होता है। इसलिए जब आप अपने कैफीन के सेवन का हिसाब लगाएंगे तब आपको उसमें इन चीज़ों को भी जोड़ना होगा। 

 

(इस आर्टिकल को इंग्लिश में पढ़ें)

अपनी सेहत का ख्याल रखें  
 

This post has already been read 572 times!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *