इन 5 तरीको से सर्दियों में इम्युनिटी बढ़ाएं

Improve immunity this winters - Healthians

लेखिका – प्रेक्षा बुट्टन 

आप इन सर्दियों के लिए हॉट चॉकलेट और सूप ला रहे होंगे। और साथ ही आप दवाइयाँ और टिशू पेपर भी खरीद रहे होंगे। दुर्भाग्य से सर्दियाँ अच्छे भोजन और अच्छे कपड़ो के साथ साथ बीमारियाँ भी ले कर आती है। चूँकि इस दौरान आपकी इम्युनिटी कमज़ोर हो जाती है आपका बीमार पड़ने का खतरा बढ़ जाता है। लेकिन इस बार दवाओं पर निर्भर रहने के बजाए इन 5 तरीको से सर्दियों में इम्युनिटी बढ़ाएं। 

 

सर्दियों में ज़ुखाम इतना आम क्यों होता है?

हमारी इम्युनिटी हमारे ऊपर और हमारे अंदर रहने वाले किटाणुओं से जूझती है। वह हानिरहित और हानिकारक कीटाणुओ को पहचानती है और जानती है की हमे कैसे उनसे सुरक्षित रखना है। लेकिन खासी-ज़ुखाम के वायरस बहुत जल्दी विकसित हो जाते है। तो यदि हमारे इम्यून सिस्टम से एक प्रकार के वायरस की पहचान करी है तो हो सकता है की जब वह वायरस विकसित हो कर लोटे तो हमारा शरीर उसे न पहचान पाए। और उस वायरस के कारण आप बीमार सकते है। अगर आप इस तरह बीमार पड़ने से बचना चाहते है तो सर्दियों में गर्म कपड़े पहने और अपने इम्यून सिस्टम को स्वस्थ बनाए रखने के यह तरीके आज़माए। 

 

इम्युनिटी बढ़ाने के तरीके 

 

Healthy breakfast for better immunity - Healthians

नाश्ते को इग्नोर न करें 

हम सभी अक्सर नाश्ते को छोड़ कर जल्दी लंच कर लेते है। लेकिन ऐसा कर हम अपना स्वास्थ ख़राब कर रहे है। सुबह का नाश्ता हमारे शरीर के लिए बहुत महत्वपूर्ण होता है। रात को सोने के कारण हम कई घंटो तक कुछ नहीं खाते है। एक तरीके से हम उपवास करने लगते है और यह उपवास हम सुबह के नाश्ते से तोड़ते है। अगर यह उपवास न तोड़ा जाए तो यह हमारी इम्युनिटी को कमज़ोर करता है। इसलिए सुनुश्चित करें की आप हर रोज़ नाश्ता करें। फिर बेशक आपको इसलिए थोड़ा जल्दी ही क्यों न उठना पड़े। आप नाश्ते में ताज़े फल, उबले हुए अंडे, पोहा, सैंडविच या चीला खा सकते है। यह सभी विकल्प स्वस्थ भी और स्वादिष्ट भी। 

 

स्वस्थ भोजन करें 

आप जिस प्रकार का खाना खाते है, उसी प्रकार आपका शरीर बीमारियों से लड़ता है। अगर आपके भोजन में महत्वपूर्ण पोषक तत्वों की कमी होगी तो सर्दियों में आपकी सेहत आपका साथ नहीं दे पाएगी। इसलिए सुनिश्चित करें की स्वस्थ इम्युनिटी के लिए आप स्वस्थ  भोजन कर रहे हों। 

खट्टे फल – विटामिन सी इन्फेक्शन को रोकने में मदद करता है। लेकिन आपका शरीर विटामिन सी नहीं बना पाता है। संतरा, नीम्बू या अंगूर जैसे खट्टे फलों में इस विटामिन की अधिक मात्रा होती है। इसलिए इस प्रकार के फलों को अपनी डाइट में ज़रूर जोड़े। 

शिमला मिर्च – शिमला मिर्च में भी विटामिन सी की अच्छी मात्रा होती है और यह भी इन्फेक्शन को रोकने में मददगार साबित हो सकता है। इम्युनिटी के साथ साथ यह आपकी आँखों और त्वचा के लिए फाएदेमंद हो सकता है। 

मशरुम – मशरुम सेलेनियम, नियासिन, राइबोफ्लेविन और विटामिन डी से भरे होते हैं। यह सब मिलकर आपकी इम्युनिटी को दुरुस्त रखेंगें। 

लहसून – लहसून में एलिसिन जैसे सल्फर युक्त यौगिक होते हैं जो आपकी इम्युनिटी को स्वस्थ बनाते है। यह उच्च रक्तचाप और खराब पाचन क्रिया से पीड़ित लोगों को भी लाभ पहुंचा सकता है।

अदरक – ख़ासी-ज़ुखाम होने पर आपकी दादी ने आपके लिए अदरक वाली चाय ज़रूर बनाई होगी। अदरक के तत्व इन्फेक्शन के वायरस को मारते है और आपको आराम पहुँचाते है। 

हरी सब्ज़ियाँ – सभी हरी सब्ज़ियाँ एंटीऑक्सिडेंट्स, बीटा कैरोटीन और विटामिन सी से भरी होती हैं। यह सर्दियों में आपको स्वस्थ रखने में मदद करते है। इसलिए सभी हरी सब्ज़ियों को अपने आहार में जोड़े। 

 

Dehydration weakens immune system - Healthians

भरपूर पानी पिए

ठंड में किसी का भी पानी पिने का ज़्यादा मन नहीं करता है। लेकिन सर्दियों में भी हाइड्रेटेड रहना उतना ही ज़रूरी है जितना की गर्मियों के दौरान है। पानी शरीर में से टॉक्सिन्स को निकालने में मदद करता है और इम्युनिटी को दुरुस्त बनाता है। इसलिए सर्दियों में अपनी इम्युनिटी को स्वस्थ रखने के लिए भरपूर पानी पिए। आप पानी में निम्बू, सेब या कोई भी अपना मनपसंदीदा फल काट कर डाल सकते है।  ऐसा कर आप पानी का स्वाद बढ़ाएँगे। 

 

आराम करें 

जब आप सोते है तो आपका शरीर अपनी मरम्मत करता है। यही कारण है की जो लोग पूरी नींद नहीं ले पाते है वह ज़्यादा बीमार पड़ते है। इसलिए सुनिश्चित करें कि आप हर दिन कम से कम 7 से 8 घंटे की नींद लें। इसके अलावा नींद की क्वालिटी पर भी काम करें। एक स्लीप शेड्यूल बनाए और उसे हर रोज़ फॉलो करें। सोने के समय पर कैफीने का परहेज़ करे। अपने कमरे को शांत और ठंडा रखें जिससे आपको अच्छी नींद आएगी। 

 

स्वच्छता बनाए रखें 

खासी-ज़ुखाम के वायरस 24 घंटों तक ज़िंदा रह सकते है। इसलिए एक बीमार व्यक्ति के आस-पास सभी लोगों को बीमार पड़ने का अधिक खतरा होता है। इसलिए स्वच्छता बनाए रखना और हाइजीन एटिकेट्स को फॉलो करना हर किसी के लिए बहुत ज़रूरी है। दरवाज़ों के हैंडल, स्विच और ऐसी कोई भी जगह जिसको लग भाग हर कोई छूता है उन्हें खासतौर पर बार बार साफ़ किया जाना चाहिए। अपने लैपटॉप और मोबाइल फ़ोन जैसी चीज़ो को भी रोज़ साफ़ करें। छींकते या खांसते समय टिशू का ज़रूर उपयोग करें। हाथों को दिन में बार बार धोएँ। और ध्यान रखें की गंदे हाथों से आप आँख या मुँह को न छुएँ। क्यूंकि ऐसा कर आप वायरस को आपको शरीर में घुसने का रास्ता देंगे। 

 

(इस आर्टिकल को इंग्लिश में पढ़ें)

This post has already been read 713 times!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *